नारी को सबल बनाना देशहित में जरूरी-राष्ट्रीय सेविका समिति

राष्ट्र सेविका समिति के 15 दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग का हुआ समापन

बिहार अपडेट-नई दिल्ली, 16 जून। भारतीय महिलाओं का सबसे बड़ा संगठन राष्ट्र सेविका समितिके ग्रीष्मकालीन प्रवेश एवं प्रबोध प्रशिक्षण वर्ग का 16 जून, रविवार को समापन हुआ। 15 दिनों तक चलने वाला प्रशिक्षण वर्ग 1 जून से ‘गोवर्धन लाल त्रेहन सरस्वती बाल मंदिर में शुरू हुआ था। लाजपत नगर के एक स्कूल परिसर में प्रशिक्षण वर्ग का समापन कार्यक्रम पर भव्य समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें राष्ट्र सेविका समिति की प्रमुख संचालिका शांता अक्का, समाज सेविका मधु गेरा और डॉक्टर शारदा जैन (स्त्री रोग विशेषज्ञ) ने संयुक्त रूप से भारत माता के चित्र पर पुष्प अर्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया । वहीं भगवा ध्वज फहराकर भारत माता की प्रार्थना की गई। इस  समारोह को संबोधित करते हुए समिति के प्रमुख संचालिका शांता अक्का ने कहा कि राष्ट्र सेविका समिति व्यक्ति का सर्वाँगिन विकास शाखा और वर्ग के माध्यम से करती आयी है ।समिति वर्ग से व्यक्ति निर्माण करती है ।वर्ग में शारीरिक ,मानसिक एवं बौधिक विकास होता है ।शारीरिक शिक्षण से आत्मविश्वास की वृद्धि होती है ,आत्मविश्वास से समस्या का समाधान होता है और समस्या समाधान से परिवार ,समाज और राष्ट्र स्वसंरक्षनक्षम बनाना हमारा उद्देश्य है। समर्थ परिवार से जागरूक देशभक्त नागरिकों का निर्माण होता है ।जागरूक देशभक्त ही राष्ट्र व समाज की समस्या का निराकरण कर सकता है ।

whatsapp-image-2019-06-16-at-18-46-51

इस अवसर पर शिक्षार्थियों ने शारीरिक , घोष , योग, दंड सांघिक गीत कविता पाठ प्रदर्शन किया।

समाज सेविका मधु गेरा ने कार्यक्रम की भूरि भूरि प्रशंसा की और कहा  कि राष्ट्र सेविका समिति भारत की महिलाओं को सशक्त करने का कार्य पिछले 83 वर्षों से कर रहीं है जो सराहनीय है ।

whatsapp-image-2019-06-16-at-19-13-37

मुख्य अतिथि डॉक्टर शारदा जैन ने कहा कि राष्ट्र सेविका समिति के इस प्रशिक्षण वर्ग से नारी सशक्त बनती हैं और नारी को सबल बनाना देशहित में जरूरी है

whatsapp-image-2019-06-16-at-18-56-28

15 दिन तक चले इस शिविर का प्रबंधन और संचालन राष्ट्र सेविका समिति की दिल्ली प्रांत ने किया था।