बिहार में भारी बारिश और वज्रपात से 92 लोग मरे

बिहार में मौसम के बदलते मिजाज के कारण गुरुवार को हुई भारी बारिश एवं बिजली गिरने से अब तक 92 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा 13 मौतें गोपालगंज और दरभंगा में चार मौतें वज्रपात से हुई हैं।

गोपालगंज में गुरुवार की सुबह बारिश के साथ वज्रपात होने से चार महिला समेत 12 किसानों की मौत हो गयी। वहीं, 13 किसान झुलस कर गंभीर रूप से घायल हो गये। सभी घायलों को इलाज के लिए स्थानीय पीएचसी और सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डीएम अरशद अजीज ने बताया कि सुबह में किसान खेतों में धान रोप रहे थे, इसी दौरान तेज बारिश के साथ हुए वज्रपात की चपेट में आ गये और उनकी मौत हो गयी। डीएम ने मृत किसानों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की। साथ ही डीएम ने मौसम विभाग से जानकारी लेने के बाद गोपालगंज के लोगों को अगले 48 घंटे तक बारिश में बाहर नहीं निकलने की अपील की है।

सिवान में वज्रपात से दो महिलाओं समेत आठ लोगों की मौत, मधुबनी में वज्रपात से सात लोगों की मौत, दरभंगा में तीन नाबालिगों समेत चार लोगों की वज्रपात से मौत, पूर्वी चंपारण में तीन लोगों की मौत, पश्चिम चंपारण के नरकटियागंज में दो लोगों की मौत, शिवहर में वज्रपात से 45 वर्षीय अधेड़ की मौत हो गई है।

मौसम विभाग ने बिहार के पांच जिलों के लिए अलर्ट जारी किया है अलर्ट पर रहने वाले जिले दरभंगा, सुपौल, सीवान, पूर्णिया और खगड़िया हैं, यहां अगले कुछ दिनों में भारी बारिश की आंशका व्यक्त की गयी है।