सीवान के पत्रकार राजदेव की पत्नी को मिली धमकी-शहाबुद्दीन के खिलाफ मामला वापस लो नहीं तो टुकड़ों में काट दी जाओगी

सीवान : बिहार के दिवंगत पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन को 26 दिसंबर की रात 12:28 बजे किसी अज्ञात व्यक्ति ने उनके मोबाइल फोन पर हत्या करने की धमकी दी है. धमकी मिलने के बाद पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी व परिवार काफी दहशत में है. बुधवार को एसपी को दिये अपने पत्र में आशा रंजन ने कहा है कि उनके मोबाइल पर कॉल आया. दिवंगत पत्रकार की पत्नी आशा रंजन को कॉल करनेवाले व्यक्ति ने कहा कि शहाबुद्दीन को जानते हो?

आशा रंजन के हां कहने पर फोन करने वाले ने धमकी देते हुए कहा कि बहुत नाटक हो गया. तुम लोग अभी सीधे-सीधे अपना सुप्रीम कोर्ट वाला केस वापस लो, वरना इतने टुकड़ों में काटेंगे कि कोई पहचान नहीं पायेगा. आशा रंजन ने एसपी से गुहार लगाते हुए मदद की अपील की है. उन्होंने कहा है कि हमें मिली सुरक्षा भी सिर्फ नाम मात्र की और वो भी कागजों पर है. अपराधियों ने 13 मई 2016 को गोली मारकर राजदेव रंजन की हत्या कर दी थी.

उस समय कर दी थी जब वे कार्यालय से अपने आवास को लौट रहें थे.घटना के बाद राज्य सरकार की अनुशंसा में सीबीआई मामलें की जांच कर रही है.इस दौरान पत्रकार की पत्नी आशा रंजन ने सुप्रीम कोर्ट में एक मुकदमा दर्ज कर पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के जेल से बाहर निकलने पर मुकदमें के प्रभावित होने की शिकायत की है.पत्रकार राजदेव रंजन के मामलें के जांच कर रही सीबीआई की टीम अभी सीवान में ही है.एएसपी अरविंद कुमार गुप्ता ने बताया कि आशा रंजन ने इस प्रकार की लिखित शिकायत किया है.पुलिस मामलें की जांच कर रही है.