खगड़िया: थानेदार और मुंशी को भारी पड़ी रिश्वतखोरी, अपने ही थाने में हुए अरेस्ट

बिहार के सरकारी महकमे में रिश्वतखोरी की कहानी कोई नई नहीं है लेकिन थाने का मालिक यानि थानेदार अपने सहयोगी के साथ जब थाने में बैठ कर के इस डील को करता है तो हैरानगी लाजमी है.
बुधवार को कुछ ऐसा ही मामला सामने आया खगड़िया से. विजिलेंस की टीम ने जिले के मानसी थाना के थानेदार और एएसआई दोनों को रंगे हाथों रिश्वत लेते धर दबोचा. थानेदार कपिलदेव कुमार और एएसआई वेदानंद झा को सबक सिखाया पनीर की मामूली सी दुकान चलाने वाले दुकानदार ने.वर्दी की रौब दिखाकर दोनों ने दुकानदार से 20 हजार रुपए की मांग की थी, लेकिन पैसे लेते ही दोनों अपने ही थाने में गिरफ्तार कर लिए गए. दुकानदार गौरव ने रिश्वत की मांग की शिकायत निगरानी विभाग से की थी. निगरानी ने अपने स्तर पर जांच में शिकायत को सही पाया. इसके बाद निगरानी ने गौरव को रिश्वत देने को कहा और एक टीम छिप कर उसपर नजर रखे हुए थे.
बुधवार को गौरव ने मानसी के थानेदार कपिलदेव कुमार को 5 हजार रुपए और एएसआई वेदानंद झा को 11 हजार रुपए दिए. पुलिसवालों ने जैसे ही रिश्वत के रुपए लिए निगरानी की टीम ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.